Home Facts Republic Day 2023 Interesting Facts About Constitution Of India Who Wrote Indian Constitution

Republic Day 2023: जानिए भारतीय संविधान से जुड़े कुछ रोचक तथ्य, जिनसे आम लोग हैं अनजान

टीम फिरकी, नई दिल्ली Published by: ज्योति मेहरा Updated Wed, 25 Jan 2023 04:33 PM IST
सार

आज हम आपको भारत के संविधान से जुड़ी कुछ रोचक बातें बताने जा रहे हैं, जिनके बारे में शायद ही आपको पता होगा। 

भारतीय संविधान से जुड़े रोचक तथ्य
भारतीय संविधान से जुड़े रोचक तथ्य - फोटो : istock

विस्तार

Unknown Facts About Constitution of India: हमारा संविधान (Constitution of India) 26 जनवरी 1950 को लागू हुआ था, जिसके बाद से हर साल इस दिन को देशभर में गणतंत्र दिवस (Republic Day) के रूप में मनाया जाता है। इस साल हमारा देश 74 वां गणतंत्र दिवस मनाने जा रहा है। इस राष्ट्रीय पर्व को हर साल बहुत ही भव्यता और उत्साह के साथ मनाया जाता है। इस अवसर पर दिल्ली के कर्तव्य पथ (Kartavya Path) पर भव्य परेड का आयोजन होता है, जिसमें भारत की सांस्कृतिक और सैन्य विरासत के शानदार प्रदर्शन से साथ देश की प्रगति व उपलब्धियों की झलक देखने को मिलती है। मुख्य अतिथि के तौर पर इस परेड में दूसरे देश के राष्ट्राध्यक्ष भी शामिल होते हैं। हालांकि ये सारी बातें ज्यादातर लोगों को पता होती हैं। ऐसे में आज हम आपको भारत के संविधान से जुड़ी कुछ रोचक बातें बताने जा रहे हैं, जिनके बारे में शायद ही आपको पता होगा।

संविधान से जुड़ी कुछ रोचक 
  • हमारे देश का संविधान 26 नवंबर 1949 तक पूरी तरह बनकर तैयार हो चुका था, लेकिन इसे देश में 26 जनवरी 1950 में लागू किया गया। इसके पीछे भी एक वजह है। दरअसल, आजादी से पहले 26 जनवरी 1930 को पूर्ण स्वराज का प्रस्ताव लागू हुआ था और तिरंगा फहराया गया था। ऐसे में यह तिथि स्वतंत्रता सेनानियों के लिए बेहद महत्वपूर्ण थी। इस तिथि को महत्व देने के लिए देश का संविधान 26 जनवरी 1950 को लागू किया गया। साथ ही इस दिन को गणतंत्र दिवस घोषित कर दिया गया।
  • भारत का संविधान दुनिया का सबसे बड़ा संविधान माना जाता है। इसमें एक प्रस्तावना, 448 आर्टिकल्स, 22 पार्ट्स, 12 अनुसूचियों के साथ 5 एपेंडिक्स और कुल 1.46 लाख शब्द मौजूद हैं। हमारे देश का संविधान दुनिया के 60 देशों से प्रेरित है। यानि उसमें से जो बातें भारत के परिप्रेक्ष्य में बेहतर लगीं, उन्हें हमारे संविधान में शामिल कर लिया गया।
  • सबसे दिलचस्प बात यह है कि भारत का पूरा संविधान हाथ से लिखा गया है, जिसे लिखने में 2 वर्ष 11 माह 18 दिन का समय लगा था। इसे लिखने का काम कैलिग्राफिस्ट प्रेम बिहारी नारायण रायजादा ने किया था। आपको जानकर हैरानी होगी कि प्रेम बिहारी नारायण रायजादा ने संविधान को लिखने के लिए कोई भी राशि नहीं ली थी।
  • भारत के संविधान को बैग ऑफ बॉरोविंग्स के नाम से भी जाना जाता है क्योंकि इसे बनाने के लिए 10 प्रमुख देशों के साथ 60 से भी अधिक संविधानों की मदद ली गई। 
  • शायद ही आपको पता होगा कि भारत के संविधान की एक मूल प्रति ग्वालियर की सेंट्रल लाइब्रेरी में मौजूद है। इस प्रति में पहले राष्ट्रपति डॉ. राजेन्द्र प्रसाद और प्रधानमंत्री जवाहरलाल नेहरू सहित संविधान सभा के अन्य सदस्यों के हस्ताक्षर हैं।

विज्ञापन
विज्ञापन

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree