Firkee Logo
Home Fun Meet Gangadhara Tilak Katnam He Is Called Doctor Of Road
Meet Gangadhara Tilak Katnam, He is called Doctor of Road

रेलवे से रिटायरमेंट के बाद भरने लगे गड्ढे, मिलिये सड़क के डॉक्टर से

इंडिया में इलाज की जरूरत इंसानों के अलावा सड़कों को भी होती है। यह बात जानते सब हैं, लेकिन रेलवे के एक रिटायर्ड इंजीनियर इलाज करने में जुट गए। अब तक 1124 गड्ढे भर चुके आंध्र प्रदेश के गंगाधर तिलक कत्नम को सड़क का डॉक्टर कहा जाने लगा है। 

कत्नम ने 35 वर्षों तक रेलवे की नौकरी की। रिटायरमेंट के बाद कत्नम कुछ दिनों के लिए अपने बेटे के पास अमेरिका चले गए। जब लौटकर आए तो हैदराबाद स्थित एक सॉफ्टवेयर कंपनी में सलाहकार के तौर पर काम करने लगे। 

एकदिन वह अपने ऑफिस जा रहे थे, तभी रास्ते में उनकी कार का पहिया एक गड्ढे में चला गया। इससे कुछ स्कूली बच्चों के ऊपर कीचड़ उछलकर जा लगा। गड्ढों के कारण वह एक दुर्घटना भी देख चुके थे। उन्होंने अध्ययन किया तो पाया कि ज्यादातर सड़क दुर्घटनाएं इन्हीं गड्ढों के कारण होती हैं। कत्नम ने ठान लिया कि बाकी जिंदगी सड़क के गड्ढे भरने में बिताएंगे। उन्होंने श्रमदान नाम की मुहिम शुरू की। धीरे-धीरे स्कूल और कॉलेजों के बच्चे उनका हाथ बंटाने लगे।
आगे पढ़ें

बेटे का मिला साथ

Share your opinion:
Synopsis
इंडिया में इलाज की जरूरत इंसानों के अलावा सड़कों को भी होती है। यह बात जानते सब हैं, लेकिन रेलवे के एक रिटायर्ड इंजीनियर इलाज करने में जुट गए।

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree