Firkee Logo
Home History History Of Wagah Border Beating Retreat Ceremony
बिना हथियारों के भी सरहद पर रोज होती है एक जंग

बिना हथियारों के भी सरहद पर रोज होती है एक जंग

भारत-पाकिस्तान का रिश्ता बेहद ही पुराना है। विभाजन से पहले एक देश था, मगर अंग्रेजों की खींची दरार ने एक नई सरहद को जन्म दिया – रैडक्लिफ लाइन भारत-पाकिस्तान की इस सरहद से कुछ ही दूरी पर बना है वाघा बॉर्डर, जो दोनो ही देशों के लिए गर्व, सम्मान और हिम्मत का प्रतीक है। इस बॉर्डर पर रोज शाम को एक समारोह होता है, जो अपने आप में एक गर्मजोशी का युद्ध है। आपसी संबंध को मजबूत बनाने के लिए शुरू हुआ यह समारोह, आज सरहद के पार, दोनो देशों के लोगों के लिए गर्व बन गया है। हाल ही में पाकिस्तान की साइड पर कुछ ऐसा हुआ, जिसने भारतीयों का सिर और ऊंचा कर दिया। पाकिस्तान की तरफ से पहली बार किसी ‘बिटिंग रीट्रीट’ में एक सिख व्यक्ति नजर आया। आइए जानते हैं वाघा और वाघा बॉर्डर का इतिहास: 1-wagah 2-wagah 4-wagah 5-wagah 6-wagah 7-wagah 8-wagah 9-wagah 10-wagah 11-wagah 12-wagah वंदे मातरम्.... जय हिन्द!!
Share your opinion:

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree