Firkee Logo
Home History Mongol Leader Genghis Khan Intrasting History
4 करोड़ लोगों के खून से रंगे हैं इस क्रूर शासक के हाथ

4 करोड़ लोगों के खून से रंगे हैं इस क्रूर शासक के हाथ

चंगेज़ खान का नाम हम सबने सुना है और इस बर्बर लड़ाके की क्रूरता और युद्ध कुशलता के किस्से-कहानियों से इतिहास भरा पड़ा है।

13 वीं और 14 वीं सदी में विशाल साम्राज्य खडा करने वाला मंगोल शासक चंगेज खान इतिहास का ‘सबसे बड़ा’ हमलावर था। इस क्रूर मंगोल योद्धा ने अपने हमलों में इस कदर खूनखराबा किया कि बडी आबादी का सफाया हो गया। आइए जानते हैं इसकी क्रूरता से जुड़े कुछ किस्से। 1000509261001_1477018906001_Bio-Notorious-A-Ruthless-Legacy-Genghis-Khan-SF

चंगेज खान मंगोलियाई नाम चिंगिस खान था, वह एक मंगोल खान शासक था।

उसने मंगोल साम्राज्य के विस्तार में एक अहम भूमिका निभाई। वह अपनी संगठन शक्ति, बर्बरता तथा साम्राज्य विस्तार के लिए प्रसिद्ध हुआ। इससे पहले किसी भी यायावर जाति के व्यक्ति ने इतनी विजय यात्रा नहीं की थी। 15124

चंगेज खान का जन्म 1162 के आसपास आधुनिक मंगोलिया के उत्तरी भाग में ओनोन नदी के निकट हुआ था।

चंगेज खान की दांयी हथेली पर पैदाइशी खूनी धब्बा था, जिसे देख भविष्यवक्ताओं ने कहा था की ये बहुत बड़ा शासक बनेगा। उसका प्रारंभिक नाम तेमुजिन (या तेमूचिन) था। मंगोल भाषा में तिमुजिन का मतलब लौहकर्मी होता है। उसकी माता का नाम होयलन और पिता का नाम येसूजेई था। Genghis_Khan_The_Exhibition_(5465078899)

अपनी पत्नी को छुडाने के लिए उसे कई लड़ाइयां लड़नी पड़ी थी।

येसूजेई ने विरोधी कबीले की होयलन का अपहरण कर विवाह किया था। लेकिन कुछ दिनों के बाद ही येसूजेई की हत्या कर दी गई। बारह वर्ष की आयु में तिमुजिन की शादी बोरते के साथ कर दी गयी। इसके बाद उसकी पत्नी बोरते का विवाह के बाद ही अपहरण हो गया था। Genghis-Khan1

चंगेज खान ने अपनी तलवार के दम पर समूचे एशिया को जीत लिया था।

वो भारत भी आया, लेकिन सिंधु नदी के तट से दिल्ली के सुल्तान इल्तुमिश के हार मानने के बाद वापस लौट गया। उसकी योजना थी कि वो भारत को रौंदते हुए भारत के बीच से गुजरे और असम के रास्ते मंगोलिया लौट जाए। लेकिन बीमार होने की वजह से वो सिंधु को पार कर उत्तर की ओर ही लौट गया। Genghis-Khan-Documentary

क्रूर योद्धा चंगेज खान की बात करें, तो उसने अपने जीवन भर की लड़ाइयों में लाखों लोगों को मौत के घाट उतार दिया।

उसकी निर्दयता का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता था कि वो जिधर से निकलता, वहां थोड़ा सा भी विरोध होने पर आस-पास के इलाकों को भी खून से लथपथ कर देता था। उसकी इसी निर्दयता के कारण पश्चिम एशिया तक के राजाओं ने उसके सामने हार मान ली। Genghis-Khan---Mongul-war-007

उसने ईरान की तीन चौथाई आबादी का समूल खात्मा कर दिया था।

कुछ इतिहासकारों का मानना है कि चंगेज के हमले के समय जितनी आबादी पूरे ईरान की थी, उतनी आबादी वापस होने में 750 सालों का लंबा समय लगा। ऐसे में ये अंदाजा लगाया जा सकता है कि चंगेज खान कितना क्रूर और निर्दयी था। History_Mankind_Gehghis_Khan_redo_SF_still_624x352

एक अनुमान के मुताबिक उसने 4 करोड़ लोगों को मौत के घाट उतार दिया।

चंगेज खान के बारे में एक बात और उल्लेखनीय है, और वो है चीन की दीवार को पार कर बीजिंग को लूटना और अपने जीवन के आखिरी समय में इस्लाम धर्म को स्वीकार करना। चंगेज खान पश्चिमी एशिया विजय के दौरान इस्लाम के संपर्क में आया और उसने इस्लाम स्वीकार कर लिया। hith-search-genghis-khan-tomb

तेमुजिन की अधीनता स्वीकार करने के बाद तमाम कबीलों के राजाओं ने उसे चंगेज खान (समुद्रों के राजा) की उपाधि दी।

चंगेज खान ने ही प्रसिद्ध मंगोल साम्राज्य की नींव डाली। जिसका पूरी दुनिया के 22 फीसदी इलाके पर कब्जा था। अपने जीवन का अधिकांश भाग युद्ध में व्यतीत करने के बाद सन् 1227 में उसकी मृत्यु हो गई।
Share your opinion:

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree