Firkee Logo
Home Panchayat After Lunch And Selfies With Amit Shah Bengali Couple Joins Trinamool Congress
After Lunch And Selfies With Amit Shah Bengali Couple Joins Trinamool Congress

मजदूर ने खिलाया खाना, अमित शाह खा गए गच्चा, ममता ने मारा चटकारा!

'सियासी खिचड़ी' पकानी हो तो 'गरीब मजदूरों की हांडी' से बेहतर साधन क्या हो सकता है! सबसे सस्ता, टिकाऊ और कभी न घिसने वाला। अब खिचड़ी पश्चिम बंगाल में पक रही है। दीदी की 'ममता' दिहाड़ी मजदूरों पर उमड़ रही है। उन पर, जिनकी कुटिया में बीजेपी कमल खिलाने पहुंची थी। कमल तो नहीं खिला, मजदूरों ने बीजेपी के गेम प्लानर, पीएम मोदी के बाए हांथ और पार्टी के संकट मोचक राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह को खाना जरूर खिला दिया। अब हफ्ते भर बाद शाह को या यूं कहें बीजेपी को अपच हो रही है और चटकारे सीएम ममता बनर्जी मार रही हैं। 

करीब एक हफ्ते पहले पश्चिम बंगाल के प्रदेश बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष की अगुवाई में एक दिहाड़ी मजदूर दंपति के यहां लंच का प्रोग्राम हुआ था। केले के पत्ते पर शुद्ध शाकाहारी खाना खाते हुए सेल्फियों का सेशन भी चला और हंसी-ठिठोली भी। गीता और राजू महली की कुटिया मानो कुछ वक्त के लिए राजमहल बन गई थी और साक्षात महाराज उनके बनाए लजीज व्यंजनों का लुल्फ ले रहे थे। बुधवार को खबर आई कि गीता और राजू महली ने 'दीदी' यानी पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी की पार्टी तृणमूल कांग्रेस ज्वाइन कर ली।

बीजेपी इस अपच के पीछे साजिश बता रही है। बीजेपी का आरोप है कि 'दीदी' खेमे ने महली दंपति को किडनैप कर उन पर दबाव बनाया है कि वे बीजेपी वालों को खाना न खिलाएं और न ही कमल खिलाएं। हालांकि कांग्रेस इस बात से इनकार कर रही है। 

गीता और राजू का मसला फिल्म बाहुबली के माहिष्मति सिंहासन जैसा भारी... बोले तो गंभीर हो गया है। ममता बनर्जी और अमित शाह में जंग भल्लाल देव और बाहुबली सरीखी छिड़ी है। दोनों तरफ से सवालों के गोले दागे जा रहे हैं। गीता और राजू के जरिए दोनों ही दिग्गज एक-दूसरे से लोहा ले रहे हैं। 

अब इस प्रकरण में गीता और राजू का क्या रोल हैं, यह तो पता नहीं, लेकिन कल यानी बुधवार को गीता जब गायब हुईं तो सबको लगा कि खेत में मजदूरी करने गई हैं, राजू घरों में पेंट करने गए। दो बच्चे हैं... वे रिश्तेदारों के यहां गए माने गए। लेकिन अचानक खबर आई के अमित शाह को लंच कराने वाली महली दंपति ने तृणमूल कांग्रेस ज्वाइन कर ली।
आगे पढ़ें

2019 में मोदी से सीधी टक्कर लेंगी ममता!

Share your opinion:
Synopsis
दीदी की 'ममता' दिहाड़ी मजदूरों पर उमड़ रही है। उन पर, जिनकी कुटिया में बीजेपी कमल खिलाने पहुंची थी।

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree