Firkee Logo
Home Panchayat J K Terrorists Are Doing Bedroom Jihad Social Media Users Are On Target
J&K: Terrorists are doing Bedroom jihad, Social Media Users are on Target

न गोली न हथियार, बंद कमरों से चल रहा 'बेडरूम जिहाद'!

जम्मू-कश्मीर में लंबे समय से आतंकियों का सामना कर रहे सुरक्षा बलों के सामने अब नई समस्या खड़ी हो गई है। तकनीक के दौर में घाटी के आतंक ने अपना स्वरूप बदल लिया है। हथियारों से लैस सुरक्षा बलों को अब बिना हथियारों के लड़ाई लड़ने वाले ‘बेडरूम जिहादियों’ से सामना करना पड़ रहा है।

ये बेडरूम जिहादी बंद कमरों में बैठकर सोशल मीडिया पर अफवाहें फैलाने और युवाओं को प्रभावित करने के लिए तरह-तरह के हथकंडे अपनाते हैं। वरिष्ठ अधिकारियों की मानें तो यही नया युद्ध क्षेत्र है और यही नई लड़ाई है। लेकिन इसमें पारंपरिक हथियारों की बजाए कंप्यूटरों और स्मार्टफोनों का इस्तेमाल हो रहा है।

‘बेडरूम जिहादी’ कहीं से भी, कश्मीर के भीतर और बाहर, अपने घर में सुरक्षित बैठे हुए या सड़क पर, नजदीक के कैफे या फुटपाथ पर कहीं से भी आतंकी गतिविधि को अंजाम दे सकते हैं।

सुरक्षा एजेंसियों को सबसे ज्यादा चिंता अमरनाथ यात्रा को लेकर है जो 29 जून से शुरू होने वाली है। डर है कि व्हाट्सएप, फेसबुक और ट्विटर जैसे प्लेटफॉर्म्स के जरिए ‘बेडरूम जिहादी’ 40 दिवसीय इस तीर्थयात्रा से पहले घाटी में सांप्रदायिक दंगे भड़का सकते हैं।

एक पुलिस अधिकारी ने कहा, अपने बिस्तर या सोफे पर बैठकर कोई भी हजारों चैट समूहों में से किसी एक पर भी ऐसी खबर डाल दे तो पूरा राज्य सांप्रदायिक हिंसा में सुलग उठेगा। कई अधिकारियों का मानना है कि आगामी दिनों में जम्मू में अफवाहें फैलाई जा सकती हैं और इससे निबटने के लिए उनके पास ज्यादा वक्त नहीं बचा है। ऐसा नहीं है कि सोशल चैट समूह केवल जम्मू-कश्मीर में ही सक्रिय हैं बल्कि राष्ट्रीय राजधानी, देश के बाकी हिस्सों और यहां तक कि विदेशों से भी इनमें भागीदारी दिख रही है।
आगे पढ़ें

कुछ इस तरह मुश्किल है राह

Share your opinion:
Synopsis
‘बेडरूम जिहादी’ कहीं से भी, कश्मीर के भीतर और बाहर, अपने घर में सुरक्षित बैठे हुए या सड़क पर, नजदीक के कैफे या फुटपाथ पर कहीं से भी आतंकी गतिविधि को अंजाम दे सकते हैं।

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree