दुनिया को शिक्षित करता था भारत का यह विश्वविद्यालय

फिरकी

Wed, 19 June 2024

Image Credit : Amar Ujala

भारत प्राचीन काल से ही शिक्षा, संस्कृति, विज्ञान, अनुसंधान, सभी चीजों में अग्रणी रहा है
 

Image Credit : Amar Ujala

खासकर शिक्षा के क्षेत्र में भारत का डंका बजता था नालंदा विश्वविद्यालय दुनिया का सबसे प्राचीन विश्वविद्यालय हैं
 

Image Credit : Amar Ujala

इस विश्वविद्यालय की स्थापना 5वीं सदी में गुप्त काल के दौरान हुई थी, कुमारगुप्त प्रथम ने इसकी नींव रखी थी 
 

Image Credit : Amar Ujala

दुनिया के पहले आवासीय विश्वविद्यालय में 300 कमरे, 7 बड़े कक्ष और  9 मंजिला लाइब्रेरी थी,
 

Image Credit : Amar Ujala

जहां तकरीबन 10,000 से ज्यादा विद्यार्थी एक साथ पढ़ते थे, जिन्हें पढ़ाने के लिए करीब 1500 से ज्यादा शिक्षक थे
 

Image Credit : Amar Ujala

इस विश्वविद्यालय में छात्रों की पढ़ाई से लेकर रहने और खाने की सभी सुविधा नि:शुल्क थी लेकिन यहां एडमिशन ले पाना काफी कठिन होता था
 

Image Credit : Amar Ujala

इस विश्वविद्यालय में साहित्य, विधि, इतिहास, गणित अर्थशास्त्र समेत लगभग सभी विषयों की शिक्षा दी जाती थी

Image Credit : freepik

यहां केवल भारत से ही नहीं बल्कि कोरिया, जापान, चीन, तिब्बत, इंडोनेशिया, ईरान, ग्रीस, मंगोलिया जैसे देशों से भी छात्र पढ़ने आते थे
 

Image Credit : freepik

दुनिया का सबसे महंगा कीड़ा, लग्जरी कार से भी ज्यादा है इसकी कीमत

freepik
Read Now