Firkee Logo
Home History Worlds Biggest Rescue Operation
कुवैत में बचाए गए थे 1 लाख से ज्यादा भारतीय, ये हैं लोगों की जान बचाने वाले दुनिया के सबसे बड़े मिशन

कुवैत में बचाए गए थे 1 लाख से ज्यादा भारतीय, ये हैं लोगों की जान बचाने वाले दुनिया के सबसे बड़े मिशन

जल्द ही अक्षय कुमार की  फिल्म ‘एयरलिफ्ट’ आने वाली है। यह फिल्म दुनिया के सबसे बड़े मिशन पर आधारित है। आज से 25 साल पहले 1990 में इस पूरे मिशन को कुवैत में अंजाम दिया गया था। इस मिशन में 1,70,000 भारतीयों को  बचाया था। हाल ही में भारत के पठानकोट में भी सेना ने अभियान चला कर आतंकियों को मारा और लोगों को भी बचाया । आइए बताते हैं दुनिया के ऐसे ही सबसे बड़े मिशन और अभियानों के बारे में जिसमें बंधक बनाए गए या आतंकियों के बीच फंसे लोगों को सुरक्षित बचाया गया।

1.ऑपरेशन राहत (यमन) अप्रैल 201506yemen

2015 साल के शुरुआत में ही यमन में गृहयुद्ध जैसे हालात बन गए थे। सऊदी अरब की बमबारी ने हालात को और बिगाड़ दिया था, जिससे हजारों लोग बेघर और बरबाद हो गए। युद्द जैसे हालात होने की वजह से यमन की राजधानी सना के एयरपोर्ट पर कोई मिलिट्री विमान को उतरने की इजाजत नहीं थी, इसी वजह से वायुसेना के विमान यमन के पड़ोसी देश जिबूती से दिन-रात उड़ान भर रहे थे। भारतीय वायुसेना का परिवहन विमान सी-17 को जिबूती से मुंबई के लिए उड़ाने भर रहा था। 'ऑपरेशन राहत' के तहत भारतीय वायुसेना के विमान गोलाबारी में फंसे भारतीय लोगों को यमन से निकाल रहे थे। यमन में करीब भारत के 4000 से ज्यादा लोग काम करते थे। खराब हालात को देखते हुए सरकार ने 30 मार्च को भारतीयों को निकालने का आदेश जारी कर दिया था। 31 मार्च से लेकर 15 अप्रैल तक 1782 भारतीयों और 30 देशों के 1291 लोगों को नौसेना के युद्धपोत ने यमन से बचाकर बाहर निकाला। बहुत कम ही ऐसे देश थे, जिन्होंने यमन में फंसे लोगों को बाहर निकालने में मदद की। अमेरिका और जर्मनी जैसे ताकतवर देशों ने भी अपने लोगों को बाहर निकालने के लिए भारत से मदद मांगी।

2.कुवैत (एयरलिफ्ट)ev_1447827022_725x725

1990 के दशक में ईराक के तत्कालीन तानाशाह सद्दाम हुसैन ने कुवैत पर हमला बोल दिया था। यह हमला तेल के कारोबार को लेकर किया गया था। सद्दाम हुसैन के हमले के बाद ईराक की सेना ने कुछ घंटो के भीतर ही पूरे कुवैत में तबाही मचा दी थी। जिसके बाद कुवैत में रह रहे 1 लाख 70 हजार हिन्दुस्तानियों की जान पर बन आई थी। ऐसे में रंजीत कात्याल ही वह शख्स थे जिन्होंने अपनी जिंदगी को खतरे में डालकार कुवैत के भीतर रहते हुए 1,70,000 हिन्दुस्तानियों को कुवैत से 4,117 किमी दूर मुंबई भेजा था। ये भारत के इतिहास में सबसे बड़ा सबसे सफल मिशन है।

3.माली (रेडिसन ब्लू होटल पर बंदूकधारियों का हमला)Mali-Attack-_Bing

माली की राजधानी बामको में रेडिसन ब्लू होटल पर बंदूकधारियों ने हमला कर 170 लोगों को बंधक बना लिया था। माली के सुरक्षाकर्मियों ने एक विशेष अभियान चलाकर 80 लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया । माली स्थित भारतीय दूतावास ने जानकारी दी थी कि बंधक बनाये गये 20 भारतीय सुरक्षित है। माली के रेडिसन होटल में 20 भारतीय ठहरे हुए थे। सुरक्षा बलों ने होटल के चारों तरफ से घेराबंदी की। यहां दो लोगों ने 140 अतिथियों और 30 कर्मचारियों को बंधक बना लिया था। सेना ने अभियान चलाकर सभी आतंकवादियों को मार गिराया और सभी भारतीय सुरक्षित निकल आए।

4.तंगधार25kashmir

जून 2015 में भारतीय सेना ने कश्मीर के कुपवाडा जिले में नियंत्रण रेखा पर हथियाबंद घुसपैठियों की नियंत्रण रेखा पार करने की कोशिश नाकाम कर दी लेकिन तंगधार सेक्टर में आर्मी बेस कैंप से करीब 800 मीटर की दूरी पर तीन घरों में 5 से 7 आतंकी छुपे थे, जिन्होंने दो परिवारों के बारह सदस्यों को बंधक बना लिया था। सेना ने वहां पूरे इलाके को घेर लिया। सेना के जवानों ने घर में घुसे तीन आतंकियों को मार गिराया था। सेना के साथ आतंकियों की मुठभेड़ पूरे दिन चलती रही और अंतत:सेना ने सभी तीन आतंकियों को मौत के घाट उतारकर बंधकों को छुड़ा लिया।

5.पेरिस (प्रिमार्क स्टोर में बंदूकधारियों का हमला)PAris-590700

फ्रांस के स्पेशल फोर्स ने राजधानी पेरिस के निकट प्रिमार्क स्टोर में बंदूकधारियों के हमले के बाद छिपे 18 लोगों को सुरक्षित निकाला था। प्रिमार्क (Primark) स्टोर में कुछ बंदूकधारी दुकान को लूटने की कोशिश में घिर गए थे, उनके साथ लगभग 18 अन्य ग्राहक भी स्टोर में फंसे हुए थे। विलेन्यूव-ला-गैरेन (Villeneuve-la-Garenne) में सुबह लगभग 6:30 बजे (05:30 बजे जीएमटी) दो या तीन हथियारबंद अपराधी प्रिमार्क स्टोर में गए थे। लूट के ईरादे से आए अपराधियों ने घिर जाने पर लोगों को बंदी बना लिया था। सेना ने कारवाई कर के सभी लोगों को सुरक्षित बाहर निकाल लिया था।

6.नाइजीरिया (बोको हरम)nigeria-boko-haram_759

कैमरून के सैनिकों ने नाइजीरिया के करीब 100 बोको हराम इस्लामी लड़ाकों को मार गिराया था और करीब 900 बंधकों को छुड़ाया। नाइजीरिया से लगे सीमाई इलाके में बोको हराम लड़ाकों के खिलाफ 26 से 28 नवंबर (2015) के बीच एक विशेष अभियान में 100 से अधिक जेहादियों को मार गिराया गया था।

7.वेस्टगेट शॉपिंग मॉल (2013)nairobi-7_2679191b

केन्या की राजधानी नैरोबी के वेस्टगेट शॉपिंग मॉल में आतंकियों ने लोगों को बंधक बना लिया था। मॉल के अगले और पिछले दरवाजों से दाखिल हुए दस से पंद्रह हमलावरों ने अंदर घुसते ही लोगों को निशाने पर ले लिया था। सेना ने उन्हें बचाने के लिए अभियान चलाया, इस ऑपरेशन में पांच आतंकी मारे गए थे। आतंकियों के कब्जे से सभी बंधकों को छुड़ा लिया गया था। आतंकियों ने ऑटोमेटिक हथियारों से फायरिंग की और ग्रेनेड फेंके। इस गोलीबारी में लगभग 70 लोगों की मौत हुई और 175 से अधिक घायल हुए । वहीं मरने वालों में ब्रिटिश, अमेरिकन, फ्रेंच, चाइनीज और भारतीय नागरिक शामिल थे। सोमालिया के अल-शबाब संगठन ने ट्विटर संदेश के जरिये इस हमले की जिम्मेदारी ली थी।

8.पठानकोट एयरफोर्स बेस पर हमलाpathankot-air-base-attack759

हाल ही में पंजाब के पठानकोट एयरफोर्स बेस पर हुए हमले में सुरक्षाबलों की कार्रवाई में सभी आतंकियों को मार गिराया तथा वहां फसे सैनिकों और लोगों को भारतीय सेना के सैनिको ने एक लम्बा अभियान चलाकर छुड़ाया। हमले में आठ जवान भी शहीद हुए। शनिवार सुबह तीन बजे के करीब आतंकियों ने पठानकोट एयरबेस पर हमला किया था। सभी आतंकी सेना की वर्दी में आए थे, ये आतंकी जैश-ए-मोहम्मद से थे।
Share your opinion:

Disclaimer

अपनी वेबसाइट पर हम डाटा संग्रह टूल्स, जैसे की कुकीज के माध्यम से आपकी जानकारी एकत्र करते हैं ताकि आपको बेहतर अनुभव प्रदान कर सकें, वेबसाइट के ट्रैफिक का विश्लेषण कर सकें, कॉन्टेंट व्यक्तिगत तरीके से पेश कर सकें और हमारे पार्टनर्स, जैसे की Google, और सोशल मीडिया साइट्स, जैसे की Facebook, के साथ लक्षित विज्ञापन पेश करने के लिए उपयोग कर सकें। साथ ही, अगर आप साइन-अप करते हैं, तो हम आपका ईमेल पता, फोन नंबर और अन्य विवरण पूरी तरह सुरक्षित तरीके से स्टोर करते हैं। आप कुकीज नीति पृष्ठ से अपनी कुकीज हटा सकते है और रजिस्टर्ड यूजर अपने प्रोफाइल पेज से अपना व्यक्तिगत डाटा हटा या एक्सपोर्ट कर सकते हैं। हमारी Cookies Policy, Privacy Policy और Terms & Conditions के बारे में पढ़ें और अपनी सहमति देने के लिए Agree पर क्लिक करें।

Agree